भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

< previous1234567897273Next >

चवर्ग का दूसरा व्यंजन; इसका उच्चारण-स्थान तालु है।

पुं.

काटना।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

पुं.

ढाँकना।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

पुं.

घर।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

पुं.

खंड, टुकड़ा।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

निर्मल, साफ।
Category: वि.

चंचल, तरल।
Category: वि.

पुं.

वह संख्या, या अंक जो पाँच से एक अधिक हो।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. षट् , प्रो. छ]

छई

स्त्री.

क्षय रोग।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. क्षयी]

छई

नष्ट होनेवाला।
Category: वि.

छई

छा गयी, फैल गयी।
Discription with Examples: मेरे नैना बिरह की बेल बई। अब कैसे निरवारौं सजनी सब तब पसरि छई – २७७३।
Category: क्रि. अ.
Etamology: [हिं. छाना]

छए

विराज रहे हैं, बस गये हैं।
Discription with Examples: सूरस्याम सुंदर रस अटके उहँइ छए री – सा. उ. ७ और पृ. ३३३।
Category: क्रि. अ.
Etamology: [हिं. छाना]

छक

स्त्री.

नशा, तृप्ति, लालसा।
Category: संज्ञा
Etamology: [हिं. छकना]

छकइयै

खिला-पिला कर तृप्त कीजिए, भोजन से संतुष्ट कीजिए।
Discription with Examples: हम तौ प्रेम – प्रीति के गहिक, भाज़ी – साक छकइयै १ – २३९।
Category: क्रि. स.
Etamology: [हिं. छकना, छकाना]

छकड़ा

पुं.

दुपहिया बैलगाड़ी, लढ़ी, लढ़िया, सग्गड़।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. शकट, प्रा. सगड़ो, छंगडो]

छकड़ा

जिसके अंजर-पंजर ढीले हो गये हों।
Category: वि.

छकड़िया

स्त्री.

छः कहारों द्वारा उठायी जानेवाली पालकी।
Category: संज्ञा
Etamology: [हिं. छः + कड़ी]

छःकड़ी, छकरी

स्त्री.

छः का समूह।
Category: संज्ञा
Etamology: [हिं. छः+कड़ा]

छःकड़ी, छकरी

स्त्री.

छः कहारों की पालकी।
Category: संज्ञा
Etamology: [हिं. छः+कड़ा]

छःकड़ी, छकरी

स्त्री.

छः बाँधों से चारपायी बिनने का ढंग।
Category: संज्ञा
Etamology: [हिं. छः+कड़ा]
< previous1234567897273Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App