भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Palaeobotany Definitional Dictionary (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Cone

शंकु
=strobilus

Cone genus

शंकुधर
शंकु के आधार पर ज्ञात कोई अनंतिम वंश। उदा. कैलेमोस्टेकिस, वोमैनाइटीज

Cone scale complex

शंकु शल्क सम्मिश्र
शंकुओं और शल्कों का सामूहिक नाम।

Conifer

शंकुधर
दे. Coniferophyta

Coniferophyta

कोनीफेरोफाइटा
अनावृतबीजियों (जिम्नोस्पर्मो) का एक उपवर्ग, जिसमें कार्डेटेलीज, वोल्टजिएलीज, कोनीफरेलीज तथा टैक्सेलीज शामिल किए जाते हैं। पैलियोज़ोइक युग में उत्पन्न और आज तक वर्तमान इन पौधों को कोनीफर (शंकुधर ) कहा जाता है क्योंकि इनके जनन-अंग शंकु के आकार के होते हैं।

Coniferophyte

कोनीफरोफाइट, शंकुधर पादप
=conifer

Coniopteris

कोनिऑप्टेरिस
संवहनी पादपों के फिलिकॉप्सिड़ा वर्ग के फिलिकेलीज़ गण का एक वंश। जुरैसिक युग में प्रमुख, इन पादपों में एकान्तर पिच्छिकाएँ होती हैं।

Connate

सहलग्न
(समान अवयव) आपस में जुड़े हुए; जैसे इक्वीसिटेलीज की पत्तियाँ जो आधार पर जुड़ी रहती हैं।

Conostoma

कोनोस्टोमा
संवहनी पादपों के जिम्नोस्पर्मोप्सिड़ा वर्ग के लाइजिनोप्टेरिडेसी कुल का एक अनंतिम वंश। कार्बनी युग के इन बीजाण्डों में कवच के तीन स्तर होते हैं।

Constricticolpate

कटिकॉल्पसी
(परागाणु सतह) जिसमें काल्पस मध्य में संकुचित हों।

Contact area

संपर्क क्षेत्र
बीजाणु चतुष्क (टेट्रैड) के बीजाणु में वह स्थान जहाँ पर वे दुसरे बीजाणु के संपर्क में थे।

Contact feature

संपर्क अंक
चतुष्क (टेट्रैड) के बीजाणु पर के अन्य बीजाणुओं के संपर्क में स्थित होने के कारण संपर्क क्षेत्र में बना विशेष चिह्न। उदा. त्रिअरी चिह्न।

Contour

कंटूर
परागाणु के मध्यवर्ती तल की रूपरेखा।

Cooksonia

कुकसोनिया
संवंहनी पादपों के राइनिऑप्सिडा वर्ग का एक वंश। साइल्यूरियर डिवोनियन युग के इन छोटे पौधों में नग्न,शाखित अक्ष होता है।

Copericytic

सहपरिकोशिकीय
(रंध्र सम्मिश्र) ऐसा परिकोशिकीय (पेरिसिटिक) जिसमें चारों तरफ से घेरे रहने वाली सहायक कोशिका के अतिरिक्त द्वार कोशिका से दूरस्थ दिशा में एक अर्धचन्द्राकार कोशिका भी होती है।

Copolocytic

सहपोलोसिटिक
(रंध्र सम्मिश्र) ऐसा पोलोसिटिक जिसमें चारों तरफ से घेरे रहने वाली सहायक कोशिका के अतिकिक्त द्वार कोशिका से दूरस्थ दिशा में एक अर्धचन्द्राकार कोशिका भी होती है।

Cordaianthus

कोर्डेएन्थस
संवहनी पादपों के जिम्नोस्पर्मोप्सिड़ा वर्ग के कार्टेडेलीज गण का एक वंश। कार्बनी युग के इन जननांगधारी अंगों में प्राथमिक अक्ष से द्वितीयक शाखाएँ निकलती हैं।

Cordaicladus

कॉर्डेक्लैडस
संवहनी पादपों के जिम्नोस्पर्मोप्सिड़ा वर्ग के कार्डेटेलीज गण का एक अंनतिम वंश। कार्बनी युग के ये शाखा-संपीडाश्म पत्रहीन होते हैं।

Cordaioxylon

कॉर्डेऑक्सिलॉन
संवंहनी पादपों के जिम्नोस्पर्मोप्सिड़ा वर्ग के कार्डेटेलीज गण का एक अंनतिम वंश। कार्बनी युग के ये दारु इस गण के कई वंशों को समाहित करते हैं।

Cordaitales

कॉर्डेटेलीज़
संवंहनी पादपों के जिम्नोस्पर्मोप्सिड़ा वर्ग का एक गण। ये पौधे कार्बनी युग में आविर्मूत हुए और पर्मियन युग तक चले। इन वृक्षों में एकलाक्षी तने सर्पिल क्रम में विन्यस्त पत्तियाँ तथा दलदली आवास के अनुरूप जड़ें थीं। मुख्य वंश है कार्डेटीज़ (तना), एमाइलॉन (जड़) कार्डेऑक्सिलॉन (दारु), कार्डेएन्थस (पुष्पक्रम) आदि।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App