भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Petrology (English-Hindi)(CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

reef limestone

भित्ति चनाश्म :
वह चूना पत्थर जो प्रवाल, स्पंज तथा ब्रायोजूआन जैसे रीफ निर्माणकारी जीवों के अवशेषों से निर्मित होता है ।

regional metamorphism

प्रादेशिक कायांतरण :
स्थानीय कायांतरण से भिन्न कायांतरण की ऐसी प्रक्रिया जिसमें किसी बड़े भूभाग की पर्पटी का अधिकांश क्षेत्र निम्न से उच्च कोटि के कायांतरण से प्रभावित होता है ।

released mineral

निर्मुक्त खनिज :
मैग्मा के क्रिस्टलन के दौरान उसकी किसी पूर्व प्रावस्था का उसके द्रव के साथ अभिक्रिया करने में असमर्थ होने के परिणामस्वरूप निर्मित खनिज । इस प्रकार पूर्व निर्मित ऑलिवीन जब मैग्मा के द्रव भाग से अभिक्रिया करने में असफल होकर पाइरॉक्सीन का निर्माण नहीं कर पाता तो उसके परिणामस्वरूप द्रव सिलिका से समृद्ध हो जाता है जो अन्ततोगत्वा क्रिस्टलित होकर क्वार्ट्ज निर्मित कर देता है जिसे निर्मुक्त खनिज की संज्ञा दी जाती है ।

relict (structure, texture)

अवशिष्ट (संरचना, गठन) :
वे खनिज संरचनायें व गठन जो शैल निर्माण के बाद हुई विभिन्न प्रक्रियाओं से अप्रभावित बच निकलने में समर्थ रही हों ।

relict texture

अवशिष्ट गठन :
खनिज निक्षेपों में वह मूल गठन जो आंशिक अथवा पूर्ण प्रतिस्थापन के पश्चात् भी शेष रह जाता है ।

replacement

प्रतिस्थापन :
परिवहन और निक्षेपण के लगभग साथ-साथ होने वाला ऐसा प्रक्रम जिसके द्वारा किसी पुराने खनिज-पिंड या खनिज समुच्चय पर अंशतः या पूर्णतः भिन्न रासायनिक संघटन का कोई नया खनिज निर्मित हो जाता है ।

retrograde metamorphism

पश्चगतिक कायांतरण :
वह कायांतरण जिसमें कुछ भौतिक परिस्थितियों में उच्च कायान्तरण कोटि के खनिज निम्न कायान्तरण कोटि के खनिजों में परिवर्तित हो जाते हैं ।

relief metamorphism

राहत कायांतरण :
स्थैतिक कायान्तरण का वह प्रकार जिसमें उच्च दबाव वाले क्षेत्र के शैल निम्न दबाव की ओर आगे बढ़ते हैं ।

rhythmic layering

आवर्ती स्तरण :
कुछ आग्नेय अन्तर्वेधों में विकसित एक प्रकार का सुस्पष्ट पुनरावृत्त स्तरण जिसमें प्रत्येक क्रमबद्ध परत की खनिजिकी इतनी भिन्न होती है कि उन्हें अलग अलग शैल नाम दिया जा सकता है ।

rhythmite

रिदमाइट, आवर्ताश्म :
अवसादी आवर्ती अनुक्रण की एक इकाई । उदाहरणार्थ :- चक्रीय निक्षेप (cyclothem deposit) ।

rhythmic sedimentation

आवर्ती अवसादन :
देखिए : ‘cyclic sedimentation’

rib and furrow

रिब एवं खाँच :
अवसादों की ऊपरी सतह पर दिखाई देनी वाली चापाकार संरचना जो कटक (ridge) और द्रोणी (basin) के समुच्चय होते हैं ।

Riecke’s principle

रीके सिद्धांत :
रीके द्वारा प्रतिपादित उष्मागतिक सिद्धांत जो कायान्तरिण शैलों में पुनःक्रिस्टलन से उत्पन्न खनिज आकार में परिवर्तन से संबंधित है । इसमें खनिज घोल अत्यधिक बाह्य दाब पर बनता है, जबकि क्रिस्टलन न्यूनतम दाब बिन्दुओं पर होता है ।

ring dyke

वलय डाइक :
प्रवण नति वाली चापाकार डाइक जो कभी-कभी लगभग वृत्त के आकार की भी हो सकती है ।

ripple bedding

ऊर्मिका संस्तरण :
लघु ऊर्मिका चिह्रों से युक्त संस्तरण पृष्ठ ।

ripple cross lamination

ऊर्मिका क्रॉस संस्तरण :
छोटे ऊर्मिका चिह्रों द्वारा निर्मित क्रॉस संस्तरण की छोटी इकाइयां ।

ripple mark

ऊमिका चिह्र :
असंपिडित कणिक पदार्थों में वायु, जल-धाराओं तथा तरंगों की प्रक्षोभन क्रिया से निर्मित वलियां ।

rock

शैल, चट्टान :
विभिन्न प्रकार के खनिज-पदार्थों का एक संसक्त अथवा असंसक्त समुच्चय या संहति जो प्राकृतिक रूप से निर्मित होती है तथा जिससे भूपर्पटी के अधिकांश भाग की रचना होती है ।

rock flowage

शैल प्रवाह :
शैलों की प्रत्यास्थ पुनराप्ति (elastic recovery) की सीमा से परे प्रतिबल से प्रभावित विरूपण की वह अवस्था जिसमें प्लैस्टिकता (आणविक प्रावह), कणीभवन (अल्पतः अन्तराली विभंजन), विसर्पण (विदलन तलों पर) अथवा पुनः क्रिस्टलन आदि सभी कुछ हो सकता है ।

rock formation

शैलसमूह :
स्थल मण्डल का वह कोई भाग जो उसके अन्य भागों से आश्मिक, संरचनात्मक तथा जननिक रूप से स्पष्टतः भिन्न होता है ।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App