भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Petrology (English-Hindi)(CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

atectonic pluton

अविवर्तनिक प्लूटॉन :
वह प्लूटॉन जिसका अभिस्थापन (emplacement) उस समय होता है जब पर्वतन नहीं हो रहा होता ।

atmoclast

वायुखंडाश्म :
वायुमंडलीय अपक्षय द्वारा स्वस्थाने (insitu) खण्डित पदार्थों से निर्मित शैल ।

atmoclastic

वायुखंडज :
वायुमंडलीय क्रिया द्वारा विघटित और बिना परिवहित हुए संपिडित या संयोजित । यह विशेषण कुछ अवसादी शैलों के लिए प्रयुक्त किया जाता है ।

atoll

अडल (मलयालम), प्रवालद्वीप-वलय :
किसी लैगून को लगभग या पूर्णतया घेरे हुए रीफ उत्पत्ति का एक वृत्तवत् या दीर्घवृत्ताकार द्वीप या द्वीपों का एक वलय (ring) जो प्रवाल तथा शैवाली शैलों और बालू से संघटित होता है ।

atoll texture

अडल गठन :
अयस्क खनिजों में पाया जाने वाला एक गठन जिसमें शैल का एक खनिज दूसरे खनिज द्वारा परिधीय रूप में प्रतिस्थापित होता है उदाहरणार्थ गैलेना द्वारा पाइराइट का प्रतिस्थापन । इस गठन का आकार बाहर से किसी प्रशातं महासागरी अडल सदृश्य दिखाई पड़ता है ।

augen gneiss

चाक्षुष नाइस :
नाइसी शैलों के लिए एक समान्य शब्द जिसमें चाक्षुष संरचना विद्यमान रहती है ।

augen schist

चाक्षुष शिस्ट :
एक प्रकार का शिष्ट जिसमें चाक्षुष संरचना पायी जाती हैं ।

augen structure

चाक्षुष संरचना :
कुछ नाइयों तथा ग्रेनाइटों में विकसित नेत्र सदृश एक संरचना । यह संरचना कुछ रवेदार घटक खनिजों जैसे स्फटिक, फेल्डस्पार, गार्नेट आदि के दीर्घवृत्तिय या लेन्साकार रूप में एकत्रित हो जाने से उत्पन्न होती है । अभ्रक या हार्नब्लेण्ड की रेखीय पत्रकों से घिरे होने पर यह संरचना और भी स्पष्ट हो जाती है ।

augite

औजाइट :
पाइरॉक्सीन वर्ग का एक ऐलुमिनी शैलकर खनिज जिसका रासायनिक संघटन सामान्यतः (Ca Mg, Fe) (Si2O6) और (Ca, Mg, Fe) (Al, Fe) (Al Si2O6) का मिश्रण समझा जाता है । इसमें कभी-कभी क्षारीय धातुएं भी उपस्थित होती हैं । यह खनिज काले या गहरे रंग के लघु प्रिज्मीय क्रिस्टलों में मिलता है तथा बैसाल्ट जैसे आग्नेय शैलों में पाया जाता है ।

aureole

मंडल :
भूविज्ञान में, किसी आग्नेय अन्तर्वेध को घेरता हुआ एक क्षेत्र जिसमें स्थानीय शैल (country rock) का संस्पर्श-कायांतरण हो जाता है । इसे “संस्पर्श-मंडल” भी कहते हैं ।

authigenic

तत्रजनिक :
उसी स्थान पर उत्पन्न । एक शब्द का प्रयोग उन घटकों के लिए होता है जो अपने वर्तमान शैलों में उनके निर्माण के साथ-साथ या उनके पश्चात् निर्मित हुए हों ।

authigenic mineral

तत्रजनिक खनिज, तत्रजात खनिज :
अवसादों में स्वस्थाने निर्मित खनिज ।

authigenous

तत्रजात :
देखिए : ‘authigenic’

autochthon

स्वस्थानिक शैलपिंड :
वे शैल जो वलन (folding) एवं भ्रंशन (faulting) की क्रियाओं द्वारा अत्यधिक प्रभावित होने पर भी अपने मूल निक्षेपण स्थान से अपेक्षतया बहुत कम संचलित हुए हों ।

autochthonous

स्वस्थानिक :
उन शैलों के लिए प्रयुक्त एक शब्द जिनके प्रधान घटक स्वस्थाने या उसी स्थान पर निर्मित हुए हों । जैसे खनिज नमक (सेंधा नमक) ।

autoclastic rock

स्वखंडज शैल :
पूर्ववर्ती शैलों से व्युत्पन्न खण्डमय पदार्थों से स्वस्थाने निर्मित शैल ।

autolith

अग्रजांतर्वेश :
आग्नेय शैल का एक खण्ड जो बाद में संपिडित किसी अन्य आग्नेय शैल में परिबद्ध रहता है । इसमें दोनों प्रकार के शैल एक ही जनक मैग्मा से व्युत्पन्न माने जाते हैं । जैसे – ग्रैनोडायोराइट में डायोराइट शैल का अन्तर्वेश अग्रजांतर्वेश कहलाता है । “सजात अन्तर्वेश” इसका समानार्थी है ।

autometamorphism

स्वकायांतरण :
आग्नेय शैलों का उनके अपने ही बाष्पशील तरलों की क्रिया द्वारा कायांतरण, जैसे बैसाल्ट से स्पिलाइट का निर्माण ।

autometasomatism

स्वतत्वांतरण :
नव क्रिस्टलित आग्नेय शैलों में उनके अपने ही अन्तिम जलसमृद्ध द्रव प्रभाज (liquid fraction) द्वारा परिवर्तन ।

automorphic

स्वरूपी, आत्मरूपी :
उन आग्नेय शैलों के गठन के लिए प्रयुक्त एक शब्द जिनके खनिज-घटक अपने अभिलक्षणिक क्रिस्टल-फलकों से युक्त होते हैं ।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App