भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Hindi Paribhashik Laghu Kosh (CHD)

Central Hindi Directorate (CHD)

वस्त्राभूषण [वस्त्र+आभूषण]

(पुं.) (तत्.)

शरीर में पहनने योग्य सुंदर कपड़े और गहने। जैसे: वस्त्राभूषण धारण करके मनुष्य की शोभा बढ़ जाती है।

वहन (करना)

(पुं.) (तत्.)

स.क्रि. 1. खींचकर, ढोकर, लादकर, उठाकर, एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने की क्रिया का भाव। 2. सँभालना, भार अपने ऊपर लेना, बोझ उठाना। उदा. पिताजी की मृत्यु के बाद मेरे बड़े भाई ने परिवार के दायित्वों का भली-भाँति वहन किया।

वहम

(पुं.) (अर.<वह्म)

1. मन में होने वाला भ्रममूलक विचार। 2. भ्रम, धोखा 3. शक, संदेह। जैसे: तुम्हें वहम है कि तुम किसी रोग से ग्रस्त हो।

वहमी

(वि.) (अर.)

1. वहम करने के स्वभाव वाला। 2. शंकालु, शक्की। दे. वहम।

वहशी

(वि.) (अर.>वह् शी)

1. आदमियों की संगति या मित्रता से दूर रहने वाला, 2. उजड्ड, असभ्य; जंगली, बर्बर।

वहशीपन

(पुं.) (अर.)

उजड्डपन; पागलों-सा अभद्र व्यवहार, सनक, भय, मानसिक विक्षेप। उदा. उसका वहशीपन देखकर सभी को आश्‍चर्य हुआ।

वांछनीय

(वि.) (तत्.)

जिसे पाने की इच्छा हो; होने या चाहने की इच्छा करने योग्य। जैसे: वांछनीय योग्यता। desirabe तु. अनिवार्य योग्यता। उदा. कक्षा में शांति बनाए रखना वांछनीय है।

वांछनीयता

(स्त्री.) (तत्.)

पाने या चाहने की इच्छा रखने की भावना। desirability वांछित वि. तत्. जिसकी इच्छा की गई हो, इच्छित। उदा. पुस्तकों और कापियों को साफ-सुथरी रखना वांछित है। desired

वांछित

(वि.) (तत्.)

जिसकी इच्छा की गई हो, इच्छित। उदा. पुस्तकों और कापियों को साफ-सुथरी रखना वांछित है। desired

वाइरल

(वि.)

(अंग्रे.) (वाइरल < वाइरस = विषाणु) 1. विषाणु का या उससे सम्बन्धित। 2. ऐसी बीमारी जो विषाणु से पीडि़त होने पर होती है। जैसे: वाइरल fever

वाइरल हिपैटाइटिस

(पुं.)

(अं.) शा.अर्थ विषाणु द्वारा उत्पन्न यकृत+शोथ। आयु. ज्ञात विषाणु, हिपैटाइटिस ए तथा हिपैटाइटिस बी सहित बहुत से विषाणुओं में से किसी एक के द्वारा उत्पन्न सामान्य यकृत शोथ। viral hepatitis दे. यकृत शोथ।

वाकई अ.

(अर.) (अर.>वाकिई)

सचमुच ही वस्तुत:, वास्तव में, इसमें कोई दो राय नहीं (कि)। उदा. वाकई आपने हमारी बड़ी मदद की।

वाक़या

(पुं.) (अर.>वाकिअ:)

1. घटना, दुर्घटना, 2. वृत्‍तान्त, हाल; खबर, समाचार। जैसे: तुम्हारे साथ जो लूटपाट हुई, वह कब का वाक़या है?

वाकिफ़

(वि.) (अर.<वाकि़फ़)

जानकार, परिचित, अभिज्ञ। उदा. मैं आपके खानदान से पूरी तरह वाकि़फ़ हूँ।

वाक्

(स्त्री.) (तत्.)

1. मुँह से निकलने वाली सार्थक ध्वनि, वाणी, बोल; वाक्य। 2. बोलने की इद्रिय 3. वाणी की देवी सरस्वती।

वाक्-तंतु

(पुं.) (तत्.)

गले की वे मांसपेशियाँ जो बोलने में सहायक होती हैं।

वाक्पटु

(वि.) (तत्.)

बातें करने में या बनाने में कुशल या निपुण। जैसे: तुम तो वास्तव में वाकपटु हो।

वाक्य

(पुं.) (तत्.)

व्याकरण के नियमों के अनुसार क्रम से लगा हुआ कर्ता-क्रिया से युक्‍त वह सार्थक शब्द समूह जो कथन का पूरा अभिप्राय व्यक्‍त करता है।

वाक्य विन्यास

(पुं.) (तत्.)

शब्दों/पदों को यथास्थान रखकर वाक्य का गठन या वाक्य रचना तथा तत् संबंधी अध्ययन।

वागीश [वाक्+ईश]

(पुं.) (तत्.)

1. वाक्पटु व्यक्‍ति, उत्‍तम वक्‍ता। 2. बृहस्पति, 3. कवि, 4. ब्रह्मा।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App