भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Hindi Paribhashik Laghu Kosh (CHD)

Central Hindi Directorate (CHD)

वल्कल

(पुं.) (तत्.)

1. पेड़ की छाल। 2. पेड़ की वह छाल, जिसे आश्रमवासी तापस एवं तपस्विनी वस्त्र के रूप में पहना करते थे। उदा. 1. वल्कलधारी तपस्वी। 2. वल्कलधारिणी शकुन्तला।

वल्द

(पुं.) (अर.)

(का) पुत्र, बेटा। जैसे: विजय वल्द प्रताप सिंह अर्थात् प्रताप सिंह का पुत्र विजय। son of

वल्दियत

(स्त्री.) (अर.)

1. माता-पिता के नाम का परिचय। जैसे: उस बेचारे की वल्दियत का पता ही नहीं है।

वल्लभी (विश्‍वविद्यालय)

(स्त्री.) (तत्.)

गुजरात की एक प्राचीन नगरी जहाँ एक प्राचीन विश्‍वविद् यालय स्थापित था।

वश

(पुं.) (तत्.)

1. किसी को नियंत्रित करने/रखने की शक्‍ति की सीमा। सामर्थ्‍य, काबू जैसे: उसे रोकना तुम्‍हारे वश में नहीं है। 2. अधीनत्‍व, स्‍वामित्‍व, कब्‍जा। जैसे: हाथी अंकुश से वंश में किया जाता है। मुहा. वशीभूत होना/करना= वंश में आ जाना/कर लेना।

वसंत बहार [वसंत+बहार]

(स्त्री.)

(वसंत+बहार) वसंत ऋतु की बहार अर्थात् वसंत की शोभा या रौनक। 1. वसंत ऋतु का आनंद 2. वसंत कालीन सुंदर मौसम। 3. संगीत का एक राग। spring

वसन

(पुं.) (तत्.)

1. कपड़ा, वस्त्र, परिधान। उदा. कटि पर लिपटा था नवल वसन वैसा ही हल्का बुना नील। (जयशंकर प्रसाद कामायनी) 2. रहना, बसना 3. आवरण।

वसा

(स्त्री.) (तत्.)

जीव. लिपिड़ों का मिश्रण जो सामान्य ताप पर ठोस हो जाते हैं। उदा. घी, मक्खन आदि। fat

वसा अम्ल

(पुं.) (तत्.)

रसा. कार्बनिक एलिफैटिक अम्ल जिसमें प्राय: सीधी शृंखलाएँ और समसंख्यक कार्बन अणु होते हैं। ये वसाओं और तेलों में पाए जाते हैं। (fatty acid)

वसीयत

(स्त्री.) (अर.)

मरने के बाद धन-संपत्‍ति के प्रबंधन के विषय में या वितरण के लिए जीवनकाल में दिया गया अंतिम लिखित निर्देश। जैसे: मेरे मित्र की वसीयत के अनुसार उसकी सारी संपत्‍ति एक ट्रस्ट के नाम कर दी गई है।

वसीयतनामा

(पुं.) (अर.)

कानून सम्‍मत वह लेख या पत्र जिसमें वसीयत के समस्त प्रावधान हों। दे. वसीयत। will

वसुंधरा

(स्त्री.) (तत्.)

शा.अर्थ वसुओं (धन, स्वर्ण आदि) को धारण करने वाली। सा.अर्थ पृथ्वी। पर्या. धरती, वसुधा, वसुमती। सूक्‍ति वीरभोग्या वसुंधरा।

वसुधा [वसु=मूल्यवान धातुएँ और रत्‍न+धा-धारण करने वाला/वाली]।

(स्त्री.) (तत्.)

शा.अर्थ रत्‍नों को अपने गर्भ धारण करने वाली। पृथ्वी, धरती।

वसूलना

(स्त्री.) (अर.<वसूल)

स.क्रि. 1. किसी को सौंपी गई वस्तु या धन को वापस लेना। recovery 2. देय कर आदि को नियमानुसार प्राप्‍त करना। पर्या. समाहरण collection

वसूली

(स्त्री.) (अर.)

1. लोगों से नियमानुसार अथवा बलपूर्वक प्राप्‍त की जाने वाली कोई वस्तु धनराशि या अन्य प्राप्‍ति। collection 2. दूसरे से अपना धन या वस्तु लेने की क्रिया का भाव, उगाही। recovery

वस्तु

(स्त्री.) (तत्.)

1. वह जिसका अस्तित्व हो; दिखाई देने वाला वास्तविक पदार्थ। पदार्थ, चीज़। thing, article 2. विवेच्य-विषय जैसे: नाटक की कथा-वस्तु, कथानक। content

वस्तुत: क्रि.वि.

(वि.) (तत्.)

वास्तव में, दरअसल। जैसे: वस्तुत: जीवन नश्‍वर है। in fact, actually

वस्तुनिष्‍ठ

(वि.) (तत्.)

जो वस्तु या पदार्थ से (व्यक्‍ति निरपेक्ष रूप में) संबंधित हो। पर्या. वस्तुपरक प्रश्‍न का उदा. इनमें से कौन एक देश का नाम है-भर; भार; भरत; भारत। इस प्रश्‍न में हल करने वाला कोई भी हो सही उत्‍तर सदैव एक ही होगा अत: यह वस्तुनिष्‍ठ प्रश्‍न है। objective विलो. व्यक्‍तिपरक/निष्‍ठ subjective

वस्तु-विनिमय

(पुं.) (तत्.)

शा.अर्थ वस्तुओं का आदान-प्रदान; वस्तुओं की अदला-बदली। व्यापार की अति प्राचीन व्यवस्था जिसमें मुद्रा का प्रचलन शुरू होने से पहले एक वस्तु के बदले दूसरी वस्तु का लेन-देन होता था। varter

वस्त्र

(पुं.) (तत्.)

1. ठंड से बचने के लिए या लज्जा ढँकने के लिए ओढ़ने पहनने आदि के काम आने वाली वस्तु या साधन, परिधान, पोशाक। 2. कपड़ा। जैसे: इस दुकान में सूती, रेशमी, खादी तथा ऊनी वस्त्र बने बनाए मिलते हैं।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App