भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Hindi Paribhashik Laghu Kosh (CHD)

Central Hindi Directorate (CHD)

< previous12345678Next >

धक

(स्त्री.)

(अनु.) भय, अप्रिय घटना आदि के कारण हृदय के सामान्य गति से अधिक तेजी से धडक़ने की स्पष्‍ट सुनाई पड़ने वाली ध्वनि। मुहा. 1. धक-धक करना=मित्र की आकस्मिक मृत्यु का समाचार सुन मेरा दिल धक-धक करने लगा। 2. धक से रह जाना=दिल के धडक़ने की ध्वनि का स्तब्ध-सा हो जाना। उदा. मित्र की दुर्घटना में मृत्यु का समाचार सुन मेरा दिल धक से रह गया।

धकधकी

(स्त्री.)

(अनुर.) हृदय के धकधक करने की क्रिया। उदा. मुझे धकधकी लगी है कि मेरा बेटा साक्षात्कार में सफलता प्राप्‍त करेगा या नहीं।

धकापेल

(स्त्री.)

(<धक्का+पेलना) शा.अर्थ धक्का देकर आगे बढ़ाना, धकेलना।, भीड़ में आदमियों का एक-दूसरे को धकेलने की स्थिति, धक्कमधक्का। जैसे: श्रीनाथजी के दर्शन के लिए भक्‍तगणों में धकापेल मचती है।

धकियाना स.क्रि.

(देश.) (दे.)

दे. धकेलना।

धकेलना स.क्रि.

(देश.)

(धका-धक्का-धकेलना) 1. बलपूर्वक दबाव देकर किसी व्यक्‍ति या वस्तु को आगे की ओर सरकाना, खिसकाना या बढ़ाना। पर्या. ढकेलना।

धक्का

(पुं.) (देश.)

<अनु.धम) 1. एक वस्तु का दूसरी वस्तु के साथ वेग से टकराना, टक्कर। 2. धकेलने की क्रिया या भाव। 3. ला.अर्थ अकस्मात, उपस्थिति विपत्‍ति, हानि इत्यादि से मन पर पहुँची चोट।

धक्का-मुक्की

(स्त्री.) (देश.)

भीड़ में एक दूसरे को धक्के देने और मुक्के मारने की स तत् क्रिया। उदा. मेलों में या उत्सवों में लोग प्राय: धक्का-मुक्की करते हुए आगे बढ़ते हैं।

धज्जी

(स्त्री.) (देश.)

धातु, लकड़ी, कपड़े, कागज़ आदि में से काटकर निकली हुई पतली लंबी पट् टी। चिथड़ा। मुहा. धज्जियाँ उड़ाना=1. चिथड़े-चिथड़े करना। 2. उग्र खंडन करना। 3. अपमानित करना। उदा. आज के भाषण में वक्‍ता ने प्रतिपक्षी के तर्कों की धज्जियाँ उड़ा दीं।

धड़1

(पुं.) (देश.)

1. शरीर का सिर से नीचे का भाग। उदा. उसने एक ही झटके में सिर को धड़ से अलग कर दिया।

धड़2

(क्रि.वि.) (तत्.)

जोर से गिरने का शब्द। उदा. धड़की आवाज़ सुनकर हमें लगा कि छत पर कोई गिर पड़ा है। मुहा. धड़ से= काल, तुंरत, झटपट। गिरते ही वह धड़ से उठ बैठा।

धड़कन (धडक़ना-धडक़न)

(स्त्री.) (देश.)

दुर्बलता या किसी आशंका के कारण हृदय की गति का सामान्यस से अधिक तेज हो जाने की क्रिया या तेजी से दिल का स्पन्दन। उदा. बुरी खबर सुनते ही उसका दिल धडक़ने लग गया।

धड़कना अ.क्रि.

(देश.) (दे.)

हृदय का धकधक करना। दे. धक।

धड़ल्ला

(पुं.) (देश./अनुर.)

धड़ों की आवाज़, धमाका। क्रि. वि. धड़ल्ले से-बिना डरे या झिझके और तेज़ी से; बेधडक़। उदा. 1. उसने साक्षात्कार में सभी प्रश्‍नों के उत्‍तर धड़ल्ले से दिए। 2. पुस्तक धडल्ले से बिक रही है; फिल्म धड़ल्ले से चल रही है।

धड़ाका

(पुं.) (देश.)

किसी चीज़ के ज़ोर से पटकने, गिरने या टूटने आदि से होने वाली ‘धड़’ की आवाज़। कोई ऐसा कार्य जिससे अचानक हलचल हो जाए, धमाका।

धड़ाधड़

(क्रि.वि.)

(अनु.) 1. लगातार ‘धड़धड़’ की ध्वनि करते हुए। 2. जल्दी-जल्दी और लगातार। उदा. 1. वह सभा में धड़ाधड़ संस्कृत बोल रहा था। 2. पुलिस ने धड़ाधड़ चोर को कई थप्पड़ जड़ दिए।

धड़ाम

(पुं.) (देश.)

1. किसी के तेज़ी से ऊपर से नीचे गिरने की शब्द। 2. धमाका। उदा. बालक छत से धड़ाम से नीचे गिर पड़ा।

धत्/धत

विस्मयादि.(अव्यय) (अनु.) 1. तिरस्कार या उपेक्षापूर्वक हटाने अथवा दुतकारने के भाव का द् योतक/सूचक शब्द। जैसे: (परिहास में किसी छोटे बालक से) तू लडक़ी है ना? बालक-धत्। 2. किसी को तुच्छ या बुरा सूचित करने का शब्द। जैसे: धत् तेरे की।

धधकना

(अ.क्रि.) (<हि.धधक) लगी आग का ऊँची लपटों के साथ जलना। उदा. कल दुकान में लगी आग से सारा सामान धधक-धधक कर जल गया।

धंधा

(पुं.) (देश.)

1. जीविका उपार्जन के लिए किया जाने वाला कार्य। (काम-धंधा, रोजगार, पेशा) 2. व्यवसाय या कारोबार (उद् योग-धंधा)
< previous12345678Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App