भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Hindi Paribhashik Laghu Kosh (CHD)

Central Hindi Directorate (CHD)

< previous1234567891516Next >

जंकफूड

(पुं.)

(अं.) 1. (अनौपचारिक अर्थ में) बेकार का अथवा अस्वास्थ्यकर खाद् य पदार्थ। 2. डिब्बाबंद अथवा पैकेटों में अपेक्षाकृत अधिक समय तक सुरक्षित रखे जा सकने वाले तले खाद्य पदार्थ। जैसे : चिप्स, बर्गर, पिज्जा आदि। पर्या. fast food

जंग

(पुं.) (फा.)

सा.अर्थ लोह पर लगने वाला मोरचा। rust टि. जंग (मोरचा) और जंग (लड़ाई, युद्ध) में भेद बनाए रखना आवश्यक है।

जंगल

(पुं.) (तत्.)

1. वह विशाल निर्जन स्थान जहाँ विविध प्रकार के वृक्ष बेतरतीब ढंग से अपने आप उग आए हों तथा उनका पालक कोई न हो। वन, अरण्य। 2. एकांत स्थान। forest मुहा. 1. जंगल जाना-(गाँवों में) शौच के लिए बाहर जाना। 2. जंगल में मंगल होना-किसी निर्जन स्थान में चहल-पहल, रौनक होना।

जंजाल

(पुं.) (तद्.)

कोई भी उलझनपूर्ण वस्तु या स्थिति जो परेशानी का कारण बनती है। पर्या. झंझट, बखेड़ा। मुहा. 1. जी का जंजाल होना। प्रयोग यह नौकरी तो मेरे लिए जी का जंजाल बन गई।

जंजीर

(स्त्री.) (फा.)

1. धातु से बनी कडि़यों को जोडक़र बनाई गई लड़ी। chain पर्या. श्रृंखला, साँकल। 2. क्रम

जंतर

(पुं.) (तद्.)

1. धातु निर्मित तांत्रिक यंत्र। जैसे : श्रीयंत्र आदि। 2. खगोल शास्त्र संबंधी जानकारी देने वाले यंत्रों से युक्‍त संरचना। जैसे : दिल्ली और जयपुर स्थित जंतर-मंतर।

जंतु

(पुं.) (तत्.)

गतिशीलता के गुण तथा देखने के अंग से युक्‍त प्रणाली; जानवर animal

जँभाई/जम्हाई

(स्त्री.) (तद्.)

नींद, आलस्य या थकावट के कारण मुँह के खुलने और तनिक हवा oxygen के अंदर खींचने की दिखाई पड़ने वाली क्रिया। पर्या. उबासी।

जकड़

(स्त्री.) (तद्.)

जकड़ने यानी कसने जैसी क्रिया या भाव। उदा. ठंडे़ जल में स्नान करने से उसका शरीर जकड़ गया।

जकड़ना स.क्रि.

(देश.)

चारों ओर से मज़बूत बंधन में बाँधना; कसकर बाँधना या पकड़ना।

जक़ात

(स्त्री.) (अर.)

1. इस्‍लाम धर्म के अनुसार अमीरों द्वारा गरीबों को दिया जाने वाला दान-पुण्य, खैरात। 2. कर।

जखीरा

(पुं.) (अर.)

1. भंडार, ढेर, ख़जाना। 2. एक ही प्रकार की वस्तुओं का समूह। प्रयो. आतंकवादियों के ठिकानों से हथियारों का बहुत बड़ा जखीरा पकड़ा गया।

ज़ख्‍़म

(पुं.) (फा.)

चोट लगने के कारण त्वचा के कटने और वहाँ से रक्‍त बहने वाला घाव। मुहा. जख्म हरा होना/पुराना दु:ख फिर याद आना। जख्म पर नमक छिड़कना-दुखी व्यक्‍ति को और अधिक दुखी करना।

जग

(पुं.) (तद्.)

1. संसार, दुनिया। 2. संसार के लोग। 3. पुं. (अं.) किसी तरल पदार्थ का संग्रह करने के लिए बना धातु या प्लास्टिक का बेलनाकार या गोल पात्र जिस पर पकडने के लिए हत्था और उँडेलने के लिए चोंच सी बनी होती है।

जगना अ.क्रि.

(तद्.)

1. नींद छोड़कर उठना, सोते से जागना। 2. सावधान होना। 3. आग का अच्छी तरह जलना। 4. चमकना। 5. होश में आना।

जगमगाना [जगमग] अं.क्रि.

(तद्.)

अपनी या दूसरे की रोशनी से खूब चमकना या दमकना। जैसे : 1. आकाश में तारों का जगमगाना। 2. उत्सव में बिजली की लडि़यों/बल्बों का जगमगाना।

जगह स्त्रीं.

(फा.)

1. स्थान। 2. गुंजाइश। जैसे: बस में बिल्कुल जगह नहीं है।

जघन्य

(वि.) (तत्.)

अत्याधिक निंदनीय, सबसे बुरा, अधम। जैसे: जघन्य अपराध।

जच्चा

(स्त्री.) (फा.)

वह स्त्री जिसने हाल ही में बच्चे को जन्म दिया हो। पर्या. प्रसूता (स्त्री), सूतिका, प्रजाता।
< previous1234567891516Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App