भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Soil Science (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

Chestnut soil

चैस्टनट मृदा
उपार्द्र से अर्ध शुष्क जलवायु में मिश्रित लंबे और छोटे क्षेत्रों में विकसित गहरे भूरे पृष्‍ठवाली मृदा।

Chlorite

क्लोराइट
1. 2:1:1 प्रकार की परत संरचनावाले सिलिकेट खनिज जिसमें मैग्‍निशियम बहुल अष्‍टफलकीय चादर वाली 2:1 परतें एकांतर क्रम में विद्‍यमान होती हैं।
2. 2:1 प्रकार के सिलिकेट खनिजों का स्तर-संरचित समूह जिसका एक अंतः स्तर होता है जो धन आवेशित धातु हाइड्राक्सॉइड अष्‍टफलकीय परत परिपूरित होता है। इसके दो प्रकार होते हैं-ट्राइअष्‍टफलकीय और डाइअष्‍टफलकीय।

C horizon

सी संस्तर
1. सामान्यतः सोलम के नीचे एक खनिज संस्तर जो जैविक क्रिया तथा मृदा जनन से अपेक्षाकृत अप्रभावित रहता है और उसमें ‘ए’ या ‘बी’ संस्तर के गुणधर्म नहीं होते।
2. सी-मृदा संस्तर बी-संस्तर के नीचे होता है, परंतु उस आधार शैल के नीचे नहीं होता; जिससे सोलम संमृदा का विकास होता है।

Choropleth map

वर्णमापी मानचित्र
वह मानचित्र जिसमें समान गुण मूल्यवाले क्षेत्रों को असंलग्‍न सीमाओं द्वारा विभक्‍त किया जाता है।

Chroma

क्रोमा
रंग के तीन चरों में से एक जो किसी वर्ण (रंग की सापेक्ष) शुद्धता दर्शाता है और निर्धारक तरंग दैर्ध्य के प्रभाव क्षेत्र से सीधा संबंधित होता है।

Chronosequence

काल अनुक्रम
ऐसी सम्बद्‍ध मृदाओं का अनुक्रम जो मृदा निर्माणक कारकों के रूप में मुख्यतः समय अंतराल के कारण एक दूसरे से भिन्‍न होती हैं।

Clay

मत्तिका, चिकनी मिट्‍टी
1. मृदा कण वर्ग जिनके कणों का तुल्य व्यास 0.002 मि. मि से कम होता है।
2. असंपिडित खंडन निक्षेप जिसके कणों का साइज 1/256 मि. मि. से कम होता है।
3. अत्यंत सूक्ष्म गठन का एक मटियारा निक्षेप जो गीला होने पर प्रायः प्लास्टिक होता है और गरम करने पर कठोर तथा अश्मवत् हो जाता है। सामान्यतः इसकी विशेषता यह है कि इसमें ऐलुमिना के जलीय सिलिकेट प्रचुर मात्रा में होते हैं तथा साथ ही साथ फेल्सपार, विभिन्‍न सिलिकेट, र्क्‍वाट्‍ज एवं कार्बोनेट और लोहमय तथा जैव पदार्थ विचरणशील मात्रा में विद्यमान रहते हैं। इसके घटकों का कुछ अनुपात प्रायः कोलाइडी अवस्था में रहता हैं। और तब यह अकोलाइडी पदार्थों के कणों तथा पत्रकों के प्रति एक स्‍नेहक के रूप में कार्य करता है।
4. 2µ से छोटे सर्वाधिक क्रियाशील पृष्‍ठवाले मृदा कण।

Clayey

मृण्मय
जिस मृदा में 35 प्रतिशत से अधिक मृत्तिका होती है, उसे मृण्मय मृदा कहते हैं।

Clay marl

मृत्तिका मार्ल
वह मार्ल जिसमें मृत्तिका की अधिकता होती है।

Clay mineral

मृत्तिका खनिज
1. मृदाओं और अन्य मृत्तिकामय निक्षेपों में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाला अकार्बनिक पदार्थ जिसके कणों का व्यास मृत्तिका के साइज .002 मि. मि. से अधिक होता है।
2. द्वितीयक खनिज जिसके कण दो माइक्रॉन से छोटे होते हैं और जिसका पृष्‍ठ सक्रिय होता है।

Clay pan

मृत्तिका पटल
अवमृदा में एक सघन, संहत और धीरे-धीरे पारगम्यतायुक्‍त परत जिसमें मृत्तिका का अंश उसके ऊपर वाले पदार्थ से कहीं ज्यादा होता है। एक सुस्पष्‍ट परिसीमा इस परत को ऊपरवाली परत से अलग करती है। सूखे मृत्तिका पटल प्रायः कठोर होते हैं जबकि गीले सुघट्‍य (प्लास्टिक) और चिपचिपे होते हैं।

Clay stone

मृत्तिकाश्म
(क) किसी मृत्तिका संस्तर में निर्मित कैल्सियमी संग्रथन।
(ख) मृत्तिका युक्‍त मटियारा फेल्सपारी शैल।

Cleavage

विदलन
पूर्व निर्धारित तलों के अनुसार खनिज या शैल का विपाटन।

Climate

जलवायु
मौसम की दीर्घकालीन स्थिति।

Climosequence

जलवायु अनुक्रम (क्लाइमोसीक्‍वेंस)
ऐसी संबद्ध मृदाओं का अनुक्रम जो मृदा निमयिक कारक के रूप में मुख्यतः जलवायु भिन्‍नता के कारण एक दूसरे से भिन्‍न होती हैं।

Clinosequence

क्लाइनोअनुक्रम
ऐसी संबद्ध मृदाओं का समूह जो मुख्यतः ढाल प्रवणता के कारण एक दूसरे से भिन्‍न होती हैं।

Clod

ढेला
मृदा का कृत्रिम रूप से निर्मित संहत और संसक्‍त पिंड जो बहुत अधिक गीली या बहुत अधिक सूखी मिट्‍टी की जुताई अथवा खुदाई से बनता है।

Coarse fragments

मोटे खंड
शैल खंड और / या खनिज कण जिनका व्यास 2 मि. मी. से अधिक होता है।

Coarse texture

स्थूल गठन
1. बहुत बारीक बलुई दुमट को छोड़कर बालू, दुमटी बालू और बलुई दुमट मृदाओं द्वारा प्रदर्शित गठन।
2. इसमें अत्यंत बारीक बलुई दुमट मृदा गठन को छोड़कर बालू, दुमटी बालू, बलुई दुमट मृदाएँ शामिल हैं। कभी-कभी इनका उपविभाजन बलुई तथा मध्यम स्थूल गठन वाले वर्गों के रूप में भी किया जाता है।

Coastal alluvium

तटीय जलोढक
इन मृदाओं पर समुद्री जल, लवण, गठनगत बलुई दुमट, अत्यधिक अपवाह, अल्प जलधारण क्षमता, अल्प पादप पोषकों का प्रभाव पड़ता है।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App