भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

First Science

आदि विज्ञान
अरस्तू के अनुसार, विशुद्ध सत् का अध्ययन करने वाला शास्त्र, अर्थात् सत्ता-मीमांसा।

Fore-Knowledge

प्राग्ज्ञान
भावी घटनाओं का पूर्व ज्ञान, जिसके निम्न दो रूप होते हैं –
1. भविष्य का अपरोक्ष, अनानुमानित ज्ञान तथा
2. स्मृति इत्यादि के आधार पर भविष्य की घटनाओं के विषय में अनुमान करना।

Fore-Ordination

पूर्वनिर्धारण, पूर्वनियतता
(एक मान्यता के अनुसार) व्यक्ति के जीवन की घटनाओं का और उसके भविष्य का ईश्वर के द्वारा पहले से निर्धारित होना।

Forgetful Induction

अनवहित आगमन
वह अप्रामाणिक आगमनिक तर्क जिसमें कुछ महत्त्वपूर्ण उपलब्ध सामग्री को छोड़ दिया गया हो।

Form

आकार
1. अरस्तू के दर्शन में, किसी वस्तु का वह अंश जो उसके स्वरूप को निर्धारित करता है। प्लेटो के दर्शन में, शाश्वत सामान्य।
2. कांट के दर्शन में, वह प्रागनुभविक तत्त्व जो इंद्रियों से प्राप्त सामग्री को एकता और व्यवस्था प्रदान करके सार्थक प्रत्यक्षों और निर्णयों में परिवर्तित करता है।

Formal Axiomatic Method

आकारिक स्वयंसिद्धि-प्रणाली
शुद्ध गणित में प्रयुक्त एक प्रणाली जिसमें तथ्यों के ज्ञान की बिल्कुल उपेक्षा करके कुछ यादृच्छिक आद्य प्रत्ययों और प्रतिज्ञप्तियों के आधार पर आकारिक परिणाम निकालते हुए एक अमूर्त सिद्धांत की रचना की जाती है।

Formal Cause

आकारिक कारण
अरस्तू के द्वारा माने हुए चार प्रकार के कारणों में से एक, जो वस्तु की उत्पति या सृष्टि की क्रिया में उसके स्वरूप का निर्धारक होता है। जैसे : मूर्ति के निर्माण में कलाकार के मन में वर्तमान आकृति जिनके अनुसार वह पत्थर को तराशता है।

Formal Ethics

आकारिक नीतिशास्त्र
इमैनुएल कांट का नैतिक सिद्धांत जो कि कर्तव्य के आकार अर्थात् मूल में निहित शाश्वत नियम (“उस सिद्धांत के अनुसार काम करें जिसे आप एक सार्वभौम सिद्धांत बनाने के लिए तैयार हों”) मात्र को निर्धारित करता है, परन्तु यह नहीं बताता कि कर्तव्य की वस्तु क्या है, अर्थात् विभिन्न परिस्थितियों में वे कार्य क्या हैं, जिन्हें हमें करना है।

Formal Fallacies

आकारिक तर्कदोष
निगमनात्मक तर्क के वे दोष जो केवल तार्किक (आकार गत) नियमों के उल्लंघन से पैदा होते हैं।

Formal Goodness

आकारिक शुभत्व
उस कर्म की विशेषता जो अच्छे अभिप्राय से किया जाता है, भले ही उसके परिणाम अच्छे न हों।

Formal Grounds

आकारिक आधार
वैज्ञानिक आगमन के दो आकारिक आधार हैं : प्रकृति की समरूपता का नियम एवं कारणकार्य नियम।

Formal Idealism

आकारिक प्रत्ययवाद
कांट का दार्शनिक सिद्धांत, जिसमें देश और काल को ‘संवेदनालम्ब के आकार’ (forms of sensibility) एवं बुद्धि विकल्पों को ‘बोधालम्ब के आकार’ (forms of understanding) कहा जाता है। इनके द्वारा प्राप्त संवेदनाओं को व्यवस्थित कर हम ज्ञान के रूप में परिणत करते है। कांट ने इसे अतीन्द्रिय प्रत्ययवाद (transcendental idealism) की संज्ञा दी है।

Formal Intension

आकारिक अभिप्राय
मैकेन्जी के अनुसार, वह सिद्धांत या आदर्श जिससे प्रेरित होकर कोई व्यक्ति एक काम करने को उद्यत होता है। दो व्यक्ति एक सरकार को उखाड़ने का प्रयत्न कर सकते हैं पर शायद इसलिए कि एक उसे बहुत ही रूढ़िवादी समझता है; और दूसरा बहुत ही प्रगतिशील।

Formalism

आकारवाद
1. नीतिशास्त्र में, कांट के बुद्धिवाद के लिये प्रयुक्त शब्द जिसमें, उसके नीतिशास्त्र के विरूद्ध आकारवाद का आक्षेप लगाया जाता है। इसे नैतिक आकारवाद (ethical formalism) की संज्ञा भी दी जाती है।
2. सौन्दर्यशास्त्र के संदर्भ में, जब वस्तु की अपेक्षा आकार पर अधिक बल दिया जाता है, उसे भी आकारवाद की संज्ञा दी जाती है।

Formalizability

आकार निर्धार्यता
प्रतीकात्मक तर्कशास्त्र में, सूत्रों (तार्किक अचरों और चरों से युक्त आकारों) के रूप में प्रस्तुत किए जाने या रखे जा सकने की क्षमता।

Formal Logic

आकारिक तर्कशास्त्र
तर्कशास्त्र का वह प्रकार जो तर्क के आकार तक ही स्वयं को सीमित रखता है, उसकी विषय वस्तु से कोई संबंध नहीं रखता।

Formal Truth

आकारिक सत्यता
प्रतिज्ञप्तियों या विचारों का वह गुण जो उनके स्वसंगत होने से, उनमें स्वतोव्याघात का अभाव होने से, अथवा उनके विशुद्ध तार्किक नियमों का अनुसरण करने से आता है।

Form Criticism

मूलानुसंधान-आलोचना
बाइबिल-आलोचना की एक प्रणाली जिसका प्रयोजन बाइबिल के अंशों का साहित्यिक प्ररूपों के अनुसार वर्गीकरण (जैसे : प्रेम-काव्य, नीतिकथा, आख्यान इत्यादि में) है तथा जो प्रत्येक प्ररूप के मूल रूप को निर्धारित करने के लिए मौखिक परम्परा के आदिकाल में पहुँचने का प्रयास करती है।

Fortitude

धीरता
प्लेटो सम्मत चार मुख्य सद्गुणों में से एक। साहस का वह रूप जो व्यक्ति को विचलित हुए बिना कष्टों का सामना करने की शक्ति देता है तथा संकट की अवस्था में भी उसका मानसिक संतुलन बनाए रखता है।

Four-Valued Logic

चतुर्मूल्यक तर्कशास्त्र
वह तार्किक पद्धति जिसमें प्रत्येक सूत्र के दो पारंपरिक सत्यता मूल्यों के स्थान पर चार सत्यता-मूल्य संभव माने गए हैं।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App