भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Urdu-Hindi Shabdkosh (UP Hindi Sansthan)

U P Hindi Sansthan

برائے مہربانی ڈکشنری کا تعارفی صفحہ دیکھنے کے لے یہاں کلک کریں
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

< previous1234567895960Next >

पंचक (پنچک)

फा. स्त्री.- चर्ख़े की पोनी, जिसमें से तार निकलता है।

पंजः (پنجہ)

फा. पुं.- उँगलियों समेत हथेली, प्रहस्त, अलंबुष, प्रतल; अधिकार, क़ब्ज़ा; ताश का पाँच बुँदकियोंवाला पत्ता; पाँच वस्तुओं की समष्टि; सहायता, मदद।

पंज़ः (پنزہ)

फा. पुं.- नृत्य का एक प्रकार जिसमें बहुत-सी स्त्रियाँ एक दूसरे का हाथ पकड़कर नाचती है।

पंजःकश (پنجہ کش)

फा. वि.- पंजा लड़ानेवाला, (पुं.) लोहे का पंजा-जैसा एक यंत्र जिसमें पंजा डालकर ज़ोर किया जाता है।

पंजःकशी (پنجہ کشی)

फा. स्त्री.- पंजा लड़ाना, पंजे द्वारा ज़ोर करना; बल-परीक्षा, ज़ोर आज़माना।

पंजःनुमा (پنجہ نما)

फा. वि.- पंजे के आकार का, पंजा जैसा।

पंजंगुश्त (پنجنگشت)

फा. पुं.- एक वृक्ष, सँभालू।

पंज (پنج)

फा. वि.- पाँच, पंच, पाँच की संख्या; पाँच वस्तुएँ।

पंजअर्कान (پنج ارکان)

फा. अ. पुं.- मुलसमानों की पाँच धार्मिक कृतियाँ-कलिमः, नमाज़, रोज़ा, ज़कात और हज।

पंजआयत (پنج آیت)

फा. अ. स्त्री.- क़ुरान की पाँच छोटी-छोटी आयतें जो प्रायः फ़ातहः में पढ़ी जाती हैं।

पंजए अल्मास (پنجۂ الماس)

फा. पुं.- पंजे के आकार का वह लौहिक यंत्र, जिसमें पहलवान पंजा डालकर ज़ोर करते हैं, पंजःकश।

पंजे आफ़्ताब (پنجۂ آفتاب)

फा. पुं.- सूर्य अपनी किरणों समेत।

पंजएखु़रशीद (پنجۂ خورشید)

फा. पुं.- दे. ‘पंजए आफ़्ताब’।

पंजए निगारीं (پنجۂ نگاریں)

फा. पुं.- प्रेमिका का चित्रित पंजा जिसमें मेंहदी या महावर से नक़्शो निगार बने हों।

पंजए मर्जां (پنجۂ مرجاں)

फा. अ. पुं.- मूँगे का पेड़, जो पंजे के आकार का होता है।

पंजए मर्यम (پنجۂ مریم)

फा. अ. पुं.- पंजे की आकृति का एक मुट्ठीबंद पौधा, जो पानी में डालने से खुलता है, और प्रसववेदनाग्रस्ता यदि उसे देखती रहे तो उसकी पीड़ा जाती रहती है और बच्चा सुगमता से उत्पन्न हो जाता है।

पंजए मिज़्गाँ (پنجۂ مژگاں)

फा. पुं.- पलकों की क़तार।

पंजगंज (پنج گنج)

फा. पुं.- पाँचों इंद्रियाँ; पाँचों वक़्त की नमाज़; पर्वेज़ की आठ निधियों में से पाँच।

पंजगानः (پنج گانہ)

फा. वि.- पाँच प्रकार का; पाँच उसूलोंवाला, पंचसूत्री; पाँच समय की नमाज़।
< previous1234567895960Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App