भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Rajaneetivijnan Paribhasha Kosh (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

< previous12Next >

Fabianism

फेबियनवाद सन् 1884 में, इंग्लैंड में स्थापित फेबियन समाज द्वारा प्रतिपादित सिद्धांत जिसके अनुसार समाजवाद लाने के लिए हिंसा का आश्रय लेना आवश्यक नहीं, शांतिपूर्ण संवैधानिक प्रक्रियाओं द्वारा भी इस उद्देश्य की पूर्ति की जा सकती है। यह सिद्धांत वर्ग-संघर्ष की विचारधारा का विरोधी और विभिन्न वर्गों के मध्य पारस्परिक सहयोग का पक्षधर है। फेबियनवाद के अनुसार पूँजीवाद का विनाश, हिंसात्मक उपायों के परित्याग और संवैधानिक उपायों द्वारा धीरे-धीरे किया जाना अपेक्षित है। इस सिद्धांत के प्रवक्ताओं में सर्वश्री एच. जी. वेल्स, जार्ज बर्नार्ड शा, एडवर्ड पीज़, सिडनी ओलिवियर, जी. डी. एच. कोल और एच. एन. ब्रेल्सफोर्ड आदि प्रमुख हैं।

Fait accompli

निष्पन्न कार्य, सिद्ध कार्य वह कार्य या परिणाम जो (पहले ही) पूरा हो चुका हो।

Federal government

संघीय शासन, संघीय सरकार ऐसी शासन व्यवस्था जिसमें राज्य की शक्तियों का विभाजन एक लिखित संविधान द्वारा एक केंद्रीय सरकार, जिसे संघ सरकार भी कहते हैं, तथा संघ में शामिल होने वाली इकाइयों के मध्य होता है, और दोनों अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में स्वायत्त माने जाते हैं। इस सरकार की सामान्य विशेषताएँ निम्नलिखित हैं :- (1) लिखित संविधान; (2) संविधान का अनमनीय होना ; (3) शक्तियों का केंद्र तथा इकाइयों में विभाजन ; (4) न्यायपालिका की सर्वोच्चता ; (5) संविधान की सर्वोच्चता, तथा (6) संघीय विधान मंडल के एक सदन में इकाइयों को समान प्रतिनिधित्व दिया जाना। संयुक्त राज्य अमेरिका, स्विट्जरलैंड व आस्ट्रेलिया के संविधान संघवाद के प्रतिमान माने जाते हैं। भारत का संविधान भी संघात्मक है।

Feed back

1. पुनर्भरण, 2. प्रतिपुष्टि 1. पुनर्भरण : वह प्रक्रिया जिसमें तंत्र के निर्गम के एक भाग को निविष्टि के रूप में लौटा दिया जाता है। इससे अशुद्धियों को ठीक करने में सहायता मिलती है। 2. प्रतिपुष्टि : वह प्रक्रिया जिसके द्वारा राजनीतिक निर्णयों अथवा कार्यक्रमों के लागू होने से उत्पन्न प्रतिक्रिया, समालोचना अथवा सुझाव शासन को प्राप्त होते हैं।

Feudalism

सामंतवाद, सामंतशाही कृषि प्रधान अर्थव्यवस्था पर आधारित सामाजिक-राजनीतिक व्यवस्था जिसके अंतर्गत शासकीय शक्ति अनेक अर्ध स्वतंत्र क्षेत्रों में वितरित रहती थी। इन क्षेत्रों पर जिन सामतों का अधिकार होता था, उन्हें अवसर आने और आवश्यकता पड़ने पर अपनी सामर्थ्य और शक्ति के अनुसार घन-जन देकर सम्राट की सहायता करनी पड़ती थी। यूरोपीय सामंतवाद का उदय रोम साम्राज्य की पतनोन्मुखी स्थितियों में हुआ। सन् 500 से 1500 ईसवी तक सामंतवाद राजनीतिक और सामाजिक व्यवस्था पर हावी रहा। सामंतवादी व्यवस्था में सम्राट सर्वोच्च सत्ताधारी होता था। उसके सहयोगी विशाल भूमिधारी सामंत होते थे जो अपने-अपने क्षेत्रों के स्वामी होते थे। उनके नीचे छोटे जमींदार, कृषक और दास इत्यादि होते थे। पूरी व्यवस्था एक श्रेणीबद्ध व्यवस्था थी जिसका आधार भूमि और कृषि था।

Fifth columnist

पंचमांगी, देशद्रोही किसी राज्य में रहनेवाले उन गद्दारों को दिया गया नाम जो शत्रु राज्य की ओर से उक्त राज्य में जासूसी तथा अन्य विध्वंसात्मक क्रियाकलाप करते हैं।

Filibuster

फिलीबस्टर, गतिरोधक-भाषण संयुक्त राज्य अमेरिका की सीनेट में, सदस्यों द्वारा लंबे-लंबे भाषणों की निरंतर आवृत्ति से विधेयकों को पारित न होने देना या उनके पारित होने में यथासाध्य विलंब अथवा व्यवधान उत्पन्न करना। यदि सीनेट के एक-तिहाई सदस्य विघ्नकारी भाषणों को रोकने के पक्ष में न हों तो किसी भी विधेयक को इस गतिरोध से बचाने का कोई उपाय नहीं रह जाता। कोई भी सदस्य अविराम बोलते रहकर विधेयक को पारित होने से रोक सकता है।

Finance bill

वित्त विधेयक प्रत्येक वर्ष बजट प्रस्तुत करने के पश्चात् उसमें निहित प्रस्तावों को वैधानिक रूप देने के लिए प्रस्तुत विधेयक। किसी कालावधि के लिए अनुपूरक वित्तीय प्रस्थापाओं को प्रभावी करने वाला विधेयक भी “वित्त विधेयक” के अंतर्गत आता है।

Finance commission

वित्त आयोग भारतीय संविधान के अनुच्छेद 280(1) में दी गई व्यवस्था के अनुसार राष्ट्रपति को प्रति पाँचवे वर्ष या आवश्यकतानुसार उसके पूर्व भी, वित्त आयोग नियुक्त करने का अधिकार है। आयोग में एक अध्यक्ष तथा चार सदस्य होते हैं। इसका कार्य निम्न होता है :- (1) संघ और राज्यों के बीच वित्तीय संबंधों पर विचार ; (2) केंद्र और राज्यों के बीच वितरणीय संघीय करों और शुल्कों से होने वाली प्राप्तियों के वितरण का आधार निर्धारित करना ; तथा (3) राष्ट्रपति द्वारा आयोग के विचारार्थ सौंपे गए किसी अन्य प्रश्न पर विचार।

First Internationale

प्रथम इंटरनेशनाले सन् 1864 में मार्क्स द्वारा स्थापित विश्व के समाजवादी अथवा साम्यवादी नेताओं का एक संघ। इसका मुख्य उद्देश्य विश्व के विभिन्न देशों में श्रमिकों के समाजवादी आंदोलनों में समन्वय स्थापित करना था। इसकी कांग्रेस की प्रथम बैठक सन् 1866 में जेनेवा में हुई थी। कार्लमार्क्स और फ्रेडरिक ऐंजल्स इसके सक्रिय सदस्य थे। सन् 1869 में इसमें बाकुनिन और आंतकवादी दल शामिल हुए जिससे आंतरिक झगड़े उत्पन्न हो गए जिनके कारण आगे चलकर इस संघ का अंत हो गया। इसकी अंतिम बैठक सन् 1876 में फिलाडेलफिया में हुई थी।

Floor crossing

पक्ष-परिवर्तन, दल-बदल दे. Carpet crossing.

Foreign secretary

1. विदेश सचिव, 2. विदेश मंत्री 1. विदेश मंत्रालय का सचिव जो राज्य का विदेश सेवा का वरिष्ठ अधिकारी होता है। 2. ब्रिटेन में विदेश मंत्री को विदेश सचिव कहते हैं जो मंत्रिमंडल का एक वरिष्ठ सदस्य होता है। 3. अमेरिका में विदेश मंत्री को सैक्रेट्री आफ स्टेट (राज्य-सचिव) का पदनाम दिया गया है।

Founding fathers (of constitution)

संविधान निर्माता किसी राज्य की संविधान-निर्मात्री सभा के सदस्य।

Four freedoms

चतुर्विध स्वतंत्रताएँ 6 जनवरी, 1941 को अमेरिका के राष्ट्रपति फ्रैंकलिन रूजवेल्ट ने कांग्रेस में निम्न चार प्रकार की स्वतंत्रताओं की घोषणा की ज़ो मित्र राष्ट्रों तथा स्वतंत्रताप्रिय राष्ट्रों के लिए लक्षित थीं :- (1) भाषण तथा विचार अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता ; (2) अपनी इच्छानुसार ईश्वर की उपासना की स्वतंत्रता ; (3) आर्थिक अभाव से स्वतंत्रता ; तथा (4) भय से स्वतंत्रता। इसके लिए रूजवेल्ट ने विभिन्न राष्ट्रों के मध्य निरस्त्रीकरण समझौते का प्रतिपादन किया ताकि किसी भी छोटे-बड़े राष्ट्र को आक्रमण का डर न रहे।

Fourteen points (= Fourteen peace points)

चौदह सूत्र प्रथम विश्व-युद्ध के दौरान संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति विल्सन द्वारा प्रतिपादित वे चौदह सूत्र जो महायुद्ध की समाप्ति के पश्चात् शांति संधि का आधार बने। इन सूत्रों में से प्रमुख सूत्र इस प्रकार थे :- (1) गुप्त कूटनीतिक वार्ता समाप्त करके शांति के सभी समझौते खुले रूप में किए जाएँगे। (2) युद्ध और शांतिकाल में, महासमुद्रों में नौवहन की सुविधा सभी राष्ट्रों को प्राप्त होगी। (3) युद्ध की समाप्ति पर सभी राष्ट्रों का एक संगठन बनाया जाएगा जिसमें सभी छोटे- बड़े राष्ट्रों को समान रूप से राजनीतिक स्वतंत्रता की पारस्परिक प्रत्याभूति प्राप्त होगी। (4) राष्ट्रीय सुरक्षा का ध्यान रखते हुए सभी राष्ट्र निःशस्त्रीकरण की ओर अग्रसर होंगे। (5) आर्थिक बंधनों में ढील दी जाएगी। (6) सभी जातियों को आत्मनिर्णय का अधिकार प्राप्त होगा।

Fourth estate

चौथा वर्ग, प्रेस/पत्रकार वर्ग समाचारपत्रों के लिए एक गौरवपूर्ण पद। इसका प्रयोग सर्वप्रथम थामस वैविंगन मकाले ने ब्रिटिश पार्लियामेंट में 1848 में किया था। उन्होंने कहा था “जिस दीर्घा में रिपोर्टर बैठते हैं वह राज्यमंडल का चतुर्थ वर्ग बन गई है।” उस समय राज्यमंडल के तीन वर्ग थे लाईस स्पिरिचुअल (धर्माधिपति), लाईस टेम्पोरल (सामंती प्रभु) और कामन्स (लोक प्रतिनिधि)।वर्तमान प्रयोग में विधि पालिका (लेजिस्लेटिव), कार्यपालिका (एक्जीक्यूटिव) और न्यायपालिका (जुडीशियरी) को शासन के तीन आधार स्तंभ माना जाता है और चौथा स्तंभ यह (प्रेस) है।

Franchise du quartier

शरण अधिकार किसी राज्य के भागे हुए व्यक्ति को शरण देने का अधिकार। इसका प्रयोग बहुधा राष्ट्रीय विधि अथवा अंतर्राष्ट्रीय विधि द्वारा निर्धारित शर्तों के अनुसार ही किया जाता है।

Freedom of association

संघ-निर्माण की स्वतंत्रता नागरिकों को संघ, समुदाय या संवास बनाने का अधिकार। यह एक मूल अधिकार माना जाता है। भारतीय संविधान में भी अनुच्छेद 19 में इसका प्रावधान किया गया है।

Freedom of speech and expression

वाक् स्वातंत्रय और अभिव्यक्ति स्वातंत्रय, भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता इस अधिकार के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति वाणी, लेखनी, चित्र तथा मुद्रण-प्रकाशन आदि के माध्यम से अपने विचार अभिव्यक्त कर सकता है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 19(1)(क) के अंतर्गत सभी भारतीय नागरिकों को यह अधिकार प्राप्त है परंतु अन्य अधिकारों की भांति यह अधिकार भी असीमित नहीं है और इस पर राज्य द्वारा उचित प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

Freedom of the press

प्रेस स्वातंत्रय, समाचार पत्रों की स्वतंत्रता लोकतंत्रीय शासन पद्धति वाले राज्यों में कुछ भी मुद्रित और प्रकाशित करने का अधिकार। भारतीय संविधान के अंतर्गत समाचार पत्रों की स्वतंत्रता व्यक्ति की विचार तथा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का एक अंग है। इस पर संविधान में निर्दिष्ट आधारों पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है।
< previous12Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App