भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Rajaneetivijnan Paribhasha Kosh (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

World spirit

विश्वात्मा ऐसी विश्व चेतना की संकल्पना जो मनुष्य में उच्च, शाशवत एवं विश्वव्यापी मूल्यों, आकांक्षाओं एवं आदर्शों को जन्म देती है। हीगल के अनुसार यह विश्वात्मा राष्ट्रीय राज्य के रूप में अवतरित होती है।

World state

विश्व राज्य ऐसा राज्य जो विश्वव्यापी हो और विश्व के वर्तमान संप्रभुता-संपन्न राज्य अपनी-अपनी संप्रुभता का परित्याग करके इस विश्व राज्य का प्रांत अथवा संभाग होना स्वीकार कर लें। इसके अनुसार संप्रभुता का एकमात्र निवास केवल विश्व राज्य में रह जाएगा और शेष राज्यों के अधिकार, कार्य, शक्तियाँ आदि केंद्रभूत विश्व राज्य द्वारा निर्धारित होंगी। इस प्रकार के राज्य की संकल्पना अनेक विचारकों, दार्शनिकों आदि ने की है यद्यपि उनके द्वारा प्रस्तुत परिकल्पनाओं में काफी भेद पाया जाता है।

World war

विश्व युद्ध ऐसा युद्ध जिसमें विश्व के अधिकांश राज्य भाग लें तथा जिसका रणक्षेत्र विश्व का अधिकांश भूभाग हो, जिसमें महासमुद्र और आकाश भी सम्मिलित हैं। 1914-19 और 1939-45 युद्ध विश्व युद्ध के दृष्टांत है।

Yalta Agreement

याल्टा समझौता द्वितीय विश्व युद्ध के अंतिम चरणों में (फरवरी, 1945 में) क्रीमिया के याल्टा नामक स्थान में रूजवेल्ट, चर्चिल और स्तालिन के मध्य युद्धोत्तर व्यवस्था के संबंध में एक समझौता हुआ जिसकी प्रमुख धाराएँ निम्न थीं :- 1. जर्मनी का आत्मसमर्पण बिना किसी शर्त के होगा। 2. जर्मन युद्ध-अपराधियों को दंड देने के लिए शीघ्र ही न्यायिक कार्यवाही की जाएगी। 3. जर्मनी से क्षतिपूर्ति ली जाएगी। 4. पूर्वी यूरोप के जो राष्ट्र स्वतंत्र हो गए हैं उनमें लोकतांत्रिक चुनाव करवाए जाएँगे। 5. पोलैंड व रूस की सीमाएँ ओडर एवं नीसी नदियों तक बढ़ा दी जाएँगी। 6. सोवियत संघ यूरोप में युद्ध समाप्ति के तीन मास के भीतर जापान के विरुद्ध युद्ध में शामिल हो जाएगा। 7. संयुक्त राष्ट्र में सोवियत संघ के अतिरिक्त उसके दो गणराज्यों को भी अलग से सदस्यता दी जाएगी। 8. सुरक्षा परिषद् में प्रक्रियात्मक प्रश्नों पर निषेधाधिकार का प्रयोग नहीं किया जाएगा। 9. संयुक्त राष्ट्र संघ में लीग ऑफ नेशन्स की अधिदेश व्यवस्था के स्थान पर न्यासी व्यवस्था लागू की जाएगी। 10. नए विश्व संगठन की व्यवस्था उन सभी राज्यों के लिए खुली होगी जिन्होंने मार्च, 1945 तक धुरी राष्ट्रों के विरुद्ध युद्ध की घोषणा कर दी थी उन्हें संगठन का मूल सदस्य माना जाएगा।

Yankee imperialism

यांकी साम्राज्यवाद, अमेरिकी साम्राज्यवाद संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा लातिन अमेरिका के विभिन्न देशों में बिना उन पर आधिपत्य किए आर्थिक एवं राजनीतिक प्रभुत्व स्थापित करने का प्रयास। इस नीति के फलस्वरूप 1823 के मनरो सिद्धांत में दृढ़तापूर्वक आस्था प्रकट की गई।

Yellow dog contract

Y

Yellow journalism

पीत पत्रकारिता वे पत्र-पत्रिकाएँ जिनमें निम्नस्तरीय, अमर्यादित, अश्लील और चरित्रहंता तथा अप्रामाणिक सामग्री प्रकाशित होती है। अमेरिका में पहले इस प्रकार की पत्रकारिता पीली पट्टी के साथ की जाती थी इसलिए इसे “पीत पत्रकारिता” कहा जाने लगा।

Your Excellency

महामहिम उच्च राजनीतिक अथवा राजनयिक पदाधिकारियों जैसे, राजाध्यक्षों, शासनाध्यक्षों और राजदूतों के लिए प्रयुक्त सम्मानसूचक संबोधन।

Zamindari abolition

ज़मींदारी उन्मूलन स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात भारत के सभी राज्यों में कांग्रेस पार्टी के कार्यक्रम के अनुसार जमींदारी व्यवस्था समाप्त करने के लिए विधान सभा द्वारा क़ानून पारित किए गए। सबसे पहले मद्रास ने यह कदम उठाया, फिर बिहार ने, और उसके पश्चात् उत्तर प्रदेश ने। अब जमींदारी और उसके अन्य रूप जैसे जागीरदारी रैयतवाड़ी आदि पूरी तरह समाप्त कर दिए गए हैं और कृषकों को भू-स्वामित्व के अधिकार सौंप दिए गए हैं।

Zamindari system

ज़मींदारी प्रथा भू-धारण अथवा भू-व्यवस्था की वह पद्धति जिसका प्रारंभ 1863 में लार्ड कार्नवालिस ने किया था और जिसके अनुसार बंगाल, बिहार व उड़ीसा में भू-राजस्व वसूल करने का कार्य स्थायी रूप से निजी व्यक्तियों को सौंप दिया गया जो जमींदार कहलाए और जो सरकार को भू-राजस्व के रूप में केवल निर्धारित राशि चुकाने के लिए वचनबद्ध थे। वे किसानों से मनमाना लगान वसूल कर सकते थे। वास्तव में जमींदारी में आने वाली भूमि के जमींदार भू-स्वामी बन गए और ये जमींदार ब्रिटिश साम्राज्य के सर्वाधिक विश्वासपात्र एवं विश्वसनीय स्तंभ बन गए। स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात भारत के अनेक राज्यों में क़ानून पारित करके इस व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया है।

Zionism

यहुदीवाद यह एक ऐतिहासिक आंदोलन है जो आधुनिक काल में थियोडर हर्जल के नाम से जुड़ा हुआ है। इस आंदोलन का लक्ष्य संसार में बिखरे हुए यहूदियों के लिए फिलस्तीन में स्वदेश की स्थापना करना था। 1948 में इज़रायल की स्थापना से यह लक्ष्य पूरा हो गया परंतु यहूदियों के हितों के संरक्षण एवं प्रभाव-वृद्धि के लिए यहूदीवाद अब भी एक अंतर्राष्ट्रीय शक्ति के रूप में क्रियाशील है।

Zonal councils

क्षेत्रीय परिषदें इन परिषदों की स्थापना 1956 के राज्य पुनर्गठन अधिनियम के अंतर्गत की गई थी। संपूर्ण भारत को पाँच क्षेत्रों में बाँट कर प्रत्येक क्षेत्र के लिए एक-एक क्षेत्रीय परिषद् का गठन किया गया था। ये क्षेत्र हैं :- 1. उत्तरी क्षेत्र, 2. मध्य क्षेत्र, 3. पूर्वी क्षेत्र, 4. पश्चमी क्षेत्र, और 5. दक्षिणी क्षेत्र। ये परामर्शदात्री निकाय है और परिषदों में किसी भी ऐसे प्रश्न पर विचार-विमर्श हो सकता है जो पारस्परिक अभिरुचि का हो।

Zone of occupation

अध्यासित क्षेत्र, अधिगृहीत क्षेत्र वह प्रदेश या क्षेत्र जिस पर किसी राज्य की सेनाओं ने अपना आधिपत्य स्थापित कर लिया हो यद्यपि इससे उस प्रदेश की संप्रभुता का स्थानांतरण नहीं होता।

Zone of operation

सैनिक संक्रिया क्षेत्र वह क्षेत्र अथवा स्थान जहाँ परस्पर विरोधी सेनाओं द्वारा युद्ध तथा युद्धात्मक क्रियाकलाप का संचालन किया जाता है। यह क्षेत्र भूमि, समुद्र अथवा आकाश, कुछ भी हो सकता है।

Zone of peace

शांति क्षेत्र ऐसा क्षेत्र जो राज्यों की सहमति से अथवा संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के अंतर्गत विशेषकर न्यूक्लीय शस्त्रास्त्रों से मुक्त कर दिया जाए जैसे, संयुक्त राष्ट्र के एक प्रस्ताव के अंतर्गत, हिन्द महासागर को शस्त्रास्त्रों एवं सैनिक गतिविधियों से मुक्त क्षेत्र बनाने पर विचार किया जा रहा है।

Zoning

क्षेत्रन इस शब्द का प्रयोग स्थानीय स्वशासन प्रणाली के संदर्भ में किया जाता है। इसका अर्थ है नगरपालिका अथवा प्रशासन की अन्य इकाइयों द्वारा करारोपण, भवन-निर्माण, औद्योगिकीकरण आदि उद्देश्यों के लिए नगर अथवा उपनगर को क्षेत्रों में बाँटना और प्रत्येक क्षेत्र में समान व्यवस्था लागू करना।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App